1. Home
  2. /
  3. Others
  4. /
  5. बुकोज रिले किसे कहते हैं? | संरचना | कार्यप्रणाली

बुकोज रिले किसे कहते हैं? | संरचना | कार्यप्रणाली

इलेक्ट्रिक पावर डिस्ट्रीब्यूशन और ट्रांसमिशन में, बुकोल्ज रिले एक सुरक्षा उपकरण है जो कुछ तेल से भरे बिजली ट्रांसफार्मर और रिएक्टरों पर लगाया जाता है, जो बाहरी ओवरहेड तेल जलाशय से सुसज्जित होता है जिसे “संरक्षक” कहा जाता है।

बुकोज रिले किसे कहते हैं? | Buchholz relay kya hota hai

यह Transformer का एक सुरक्षा डिवाइस होता है, यह Transformer को इलेक्ट्रिकल फाल्ट से होने वाले नुकसान से का पूर्वानुमान करा देता है और साथ में ही यह जलने से बचाता है।

Buchholz Relay kise kahate hain
Buchholz Relay

Buchholz Relay एक gas आधारित रिले है, जो कि Transformer के oil से उत्पन्न होने वाली गैस के कारण operate होती है जिससे Transformer की सुरक्षा करती है।

iti online mock test

इसको अन्य नाम से भी जाना जाता है, जिसमें से पहला नाम pre-fault Relay व दूसरा नाम Gas actuated Relay है।

Buchholz Relay की संरचना

यह Relay एक Dome Vessel की तरह दिखता है, जो कि Conservator तथा Main Tank को जोड़ने वाली Pipe के बीच लगाई जाती है, इस तरह की Relay के दो भाग होते हैं, जो कि निम्न प्रकार से हैं-

(i) ऊपरी भाग

इसमें एक मर्करी के टाइप का Switch लगा होता है, जो कि Hinged टाइप के Flap पर जुड़ा होता है, जो Transfomer से Oil Conservator (तेल संग्राहक) में बह रहा होता है उसमें यह लगा होता है।

Buchholz Relay का यह भाग, जब Transformer में Incipient Fault आता है तब Alarm Circuit को बंद कर देता है।

(ii) निचला भाग

जब कभी Transformer में गंभीर अंदरूनी Fault आता है तब यह Circuit breaker को ट्रिप कर देता है।

Buchholz Relay की कार्यप्रणाली

जब Transformer में किसी Fault के कारण गर्मी या आर्क उत्पन्न होता है, तब उसमें से Transformer oil का विघटन शुरू हो जाता है। यह विघटन लगभग 350°C पर आरम्भ हो जाता है।

Transformer में विटघन होने से जो Product बनता है, उसमें लगभग 70% से अधिक Hydrogen Gas होती है जो कि भार में हल्की होती है, हल्की होने के कारण Hydrogen Gas उठने लगती है और यह Hydrogen Gas Conservator में जाने की कोशिश करती है।

उस समय यह Relay के ऊपरी भाग में फंस जाती है तथा यह Hydrogen Gas भी Buchholz Relay में गिरने लगता है। जैसे-जैसे Transformer oil का का स्तर नीचे गिरता है, ठीक वैसे-वैसे Float, जो कि Relay के तेल पर तैर रहा होता है तो वह नीचे की ओर गिरने लगता है।

जब Float नीचे गिर जाता है, तब जिसमें मर्करी Switch लगा होता है वह बंद हो जाता है और साथ ही अलार्म परिपथ को बंद कर देता है।

जब किसी परिस्थिति में Transformer में गंभीर Sort Circuit होता है, तब Transformer के Tank का दबाव बढ़ने लगता है और यह दबाव Gas Conservator की ओर बढ़ता है।

जब यह दबाव Gas Conservator की ओर बढ़ता है। तब यह Buchholz Relay से गुजरता है, जिससे Buchholz Relay पर लगी प्लेट्स Gas के Pressure या दबाव से दबने लगती हैं और जिसके परिणामस्वरूप दूसरा Switch बंद हो जाता है तथा वह Circuit breaker को Trip कर देता है।

Transformer में Buchholz Relay का काम Simple Word में

दोस्तों, आप ऊपर यह पढ़ चुके हो कि Buchholz Relay, Transformer के मुख्य टैंक और Conservator के बीच जुड़ी होती है। जब कभी भी किसी Transformer में कोई खराबी आती है, तब यह अपना काम करने लगती है और Transformer को जलने से बचाती है।

जब Transformer में Sort Circuit होता है, तब उसमें Main Tank में भरा गर्म होकर वाष्पीकृत ‌होने लगता है, जिससे गैस का निर्माण होता है। उसके बाद यह गैस Main Tank से पाइप के माध्यम से Buchholz Relay में जाती है। जिसके कारण बुकोल्ज रिले में लगा Float नीचे गिर जाता है और तब Relay में लगी विद्युत घंटी बजने लगती है।

इसके बाद जब oil की तेज धारा जब दूसरे Float से टकराती है तब टकराने से मर्करी Switch on हो जाता है और Transformer Main Switch से disconnect हो जाता है। जिससे हमारा Transformer सुरक्षित बना रहता है।

इन्हें भी पढ़ें-

6 thoughts on “बुकोज रिले किसे कहते हैं? | संरचना | कार्यप्रणाली

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2019 -2023 All Rights Reserved iticourse.com