एल्युमीनियम के उपयोग व अंतर के बारे में
x

एल्युमीनियम के उपयोग व अंतर के बारे में

Uses of Aluminium in hindi:- दोस्तों, इस पोस्ट में मैंने एल्युमीनियम के उपयोग व अंतर के बारे में बताया है, कि एल्युमीनियम का उपयोग इंजीनियरिंग क्षेत्र में किन स्थानों पर क्या बनाने में किया जाता है।

एल्युमीनियम के उपयोग

इसका उपयोग (use) इंजीनियरिंग के क्षेत्र (field of engineering) में निम्न स्थानों में किया जाता है-

Uses of Aluminium
x

1.परिवहन उद्योग

हल्केपन के कारण इसका उपयोग जहाज(ship), हवाई जहाज, कार(car), बस, ट्रक, और ट्रेन आदि को बनाने में किया जाता है।

2.वायुमण्डलीय प्रभाव

इस पर वायुमंडल का कोई भी प्रभाव नहीं पड़ता है, इसलिए इसका उपयोग रूफिंग, दरवाजे(doors), खिड़की) windows) और आवरण आदि को बनाने में किया जाता है।

3.मशीनें तथा ढाँचे

इसकी तनन सामर्थ्य (tensile strength) अधिक होती है, इसलिए इसका उपयोग मशीन के पार्ट्स बनाने में किया जाता है।

4.धातुकर्म उद्योग

  1. इसका उपयोग इस्पात या स्टील के उत्पादन (production) में अपचयन पदार्थ (reducing agent) के रूप में किया जाता है।
  2. इसका उपयोग धातुकर्म उद्योग (Metallurgical industry) में अलॉयिंग धातु के रूप में भी होता है।

5.रसायन तथा खाद्य उद्योग में

यह रसायनों के प्रति अच्छा प्रतिरोधक पदार्थ (Resistive material) होता है और इसमें काफी अच्छे फैब्रीकेशन के भी गुण होते हैं। इन्ही कारणों से इसका उपयोग रसायन और खाद्य पदार्थों के उपकरणों को बनाने में किया जाता है। और इसी आधार पर ही इसका उपयोग (use) खाना पकाने के बर्तन(pots), कुकर्स, डेयरी प्रोडक्ट रखने के बर्तन, लाँड्री-उद्योग के उपकरण आदि को बनाने में किया जाता है।

6.वैद्युत उद्योग

  1. अधिक गति वाले टरबाइन जेनरेटर्स में एल्युमीनियम कण्डक्टरों (Aluminum conductors) का उपयोग किया जाता है।
  2. इसका उपयोग वैद्युत केबिल (electrical cable) बनाने में भी किया जाता है।
  3. फैक्ट्रियों के आस-पास विद्युत बाँटने के लिए एल्युमीनियम (Aluminium) की बनी हुई बसों का ही उपयोग किया जाता है।

तांबा और एल्युमीनियम में अंतर

तांबाएल्युमीनियम
1.यह एक महंगी अलौह धातु (nonferrous metal) होती है।1.यह एक सस्ती अलौह धातु होती है।
2.इसकी तनन सामर्थ्य अधिक होती है।2.इसकी तनन सामर्थ्य कम होती है।
3.इसकी विद्युत चालकता 100% होती है।3.इसकी विद्युत चालकता 75% होती है।
4.इसकी सोल्डरिंग और वैल्डिंग क्षमता अधिक होती है।4.इसकी सोल्डरिंग और वैल्डिंग क्षमता कम होती है।
5.इसकी विद्युत प्रतिरोधकता 1.68 माइक्रो-ओम सेमी होती है।6.इसकी विद्युत प्रतिरोधकता 2.65 माइक्रो-ओम सेमी होती है।

More Information:- लौह अयस्क के बारे में

My Website:- iticourse.com

iti online mock test

4 thoughts on “एल्युमीनियम के उपयोग व अंतर के बारे में

Leave a Reply

Your email address will not be published.