1. Home
  2. /
  3. Fitter course
  4. /
  5. Fitter science
  6. /
  7. स्थैतिक घर्षण क्या है?

स्थैतिक घर्षण क्या है?

दोस्तों, मैंने इस पोस्ट में स्थैतिक घर्षण क्या है? स्थैतिक घर्षण के नियम इत्यादि के बारे में बताया है, यदि आप जानकारी पाना चाहते हो तो पोस्ट को पूरा पढ़िए। तो चलिए शुरू करते हैं-

स्थैतिक घर्षण क्या है? (What is Static Friction)

“जब किसी स्थिर वस्तु पर बल लगाया जाता है, तो उसमें किसी भी प्रकार का विस्थापन उत्पन्न नहीं होता है, या वस्तु हिलती नहीं है, तो वह वस्तु स्थैतिक घर्षण (Static Friction) के अन्तर्गत होती है।

Static Friction
Static Friction

स्थैतिक घर्षण के नियम (Laws of Static Friction)

यह निम्न प्रकार से हैं-

  1. एक-दूसरे के सम्पर्क में रखे दो तलों या वस्तुओं के बीच घर्षण बल की दिशा हमेशा उनकी गति की दिशा या गति करने की दिशा के विपरीत होती है।
  2. स्थैतिक घर्षण बल का परिमाण बाहरी आरोपित नैट बल के बराबर होता है, जबकि दिशा उसके विपरीत होती है।
  3. यह बल एक स्व-समंजन बल है, जो कि आरोपित बल के बढ़ाने पर तब तक बढ़ता है, जब तक कि आरोपित गति ठीक रुक न जाए।

दोस्तों, यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमेंट व शेयर करें।

More Information:- चार्ल्स का नियम

Telegram पर जुड़ने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें:-

CLICK HERE:- Telegram Group

5 thoughts on “स्थैतिक घर्षण क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.