1. Home
  2. /
  3. Fitter course
  4. /
  5. स्क्राइबर क्या है?

स्क्राइबर क्या है?

जिस प्रकार कागज पर पेंसिल (Pencil) द्वारा लाइन खींचते हैं, ठीक उसी प्रकार धातु पर लाइन खींचने के लिए स्क्राइबर (Scriber) का प्रयोग किया जाता है।

इसको बनाने के बाद हीट ट्रीटमेंट किया जाता है, जिससे इसके दोनों नुकीले सिरे कठोर हो जाते हैं। और धातु पर लाइन खींचते समय जल्दी खराब नहीं होते हैं।

मैटीरियल

यह हाई कार्बन स्टील के या टूल स्टील (Tool Steel) के बनाए जाते हैं, इसके सिरों या प्वाइण्ट को पत्थर पर घिसकर 12 डिग्री से 15 डिग्री के कोण पर बनाया जाता है।

साइज

यह मार्केट में 125 से 200 मिमी तक लंबाई में तथा 3 से 5 मिमी तक मोटाई मिलते हैं।

स्क्राइबर के प्रकार

यह चार प्रकार के होते हैं, जो कि निम्न प्रकार से हैं-

(1.)सीधा स्क्राइबर (Straight Scriber)

Straight scriber
Straight Scriber

इस प्रकार के स्क्राइबर का एक सिरा सीधा व नुकीला होता है और इसके बीच में नर्लिंग की गई होती है, इसको पॉकेट स्क्राइबर भी कहते हैं।

(2.)मुड़ा स्क्राइबर (Bent Scriber)

स्क्राइबर क्या है?

इस प्रकार के Scriber का एक सिरा सीधा तथा दूसरा सिरा 90° पर मुड़ा होता है। इसके दोनों सिरे नुकीले होते हैं। सीधा सिरा साधारण रेखाएँ खींचने के लिए प्रयोग किया जाता है और मुड़े (Bent) हुए सिरे का उपयोग निम्नलिखित कार्यों के लिए किया जाता है।

  • सर्फेस गेज की सहायता से लेथ मशीन पर चार जबड़ा चक (Four Jaw Chuck) में जॉब को बाँधते समय उसके ठीक सेंटर में होने की जाँच करने के लिए
  • सर्फेस गेज की सहायता से बेलनाकार खोखले जॉब की भीतरी सतह पर रेखाएँ(Lines) खींचने के लिए

(3.)समायोज्य स्क्राइबर (Adjustable Scriber)

Adjustable Scriber
Adjustable Scriber

इसकी लंबाई को आवश्यकतानुसार घटाया-बढ़ाया जा सकता है, इसमें एक खोखली स्लीव होती है। जिसके बाहर के भाग में नर्लिंग होती है, इसके भी दो सिरे होते हैं, जिसका एक भाग सीधा तथा दूसरा 90 डिग्री पर मुड़ा हुआ होता है।

(4.)ऑफसेट स्क्राइबर (Offset Scriber)

Offset Scriber
Offset Scriber

इसका उपयोग बहुत से मापक यन्त्रों के साथ में किया जाता है; जैसे- वर्नियर हाइट गेज,स्क्वायर हैड आदि में किया जाता है। इससे मापने व चिन्हन(marking) करने का काम एक साथ हो जाता है।

स्क्राइबर की सावधानियाँ

  1. सही मार्किंग करने के लिए स्क्राइबर की नोक(Point) नुकीली रखनी चाहिए।
  2. इसके नोक(Point) को कठोर सतह पर ठोंकना नहीं चाहिए।
  3. इसका प्रयोग ना करते समय इसके नोक(Point) पर कार्क लगा देते हैं।
  4. इसका प्रयोग कठोर सतह पर नहीं करना चाहिए।

Other Information:-Advantage and Disadvantage

Telegram पर जुड़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें:-

CLICK HERE:- Telegram Group

10 thoughts on “स्क्राइबर क्या है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.