1. Home
  2. /
  3. Others
  4. /
  5. प्रैक्टिकल: अवशेषों के निस्तारण की विधि

प्रैक्टिकल: अवशेषों के निस्तारण की विधि

दोस्तों, आईटीआई कोर्स डॉट कॉम में आपका स्वागत है, आज आप प्रैक्टिकल: अवशेषों के निस्तारण की विधि के बारे में जानेंगे।

प्रैक्टिकल: अवशेषों के निस्तारण की विधि

दोस्तों, जब आप वर्कशॉप में प्रैक्टिकल (Practical) करने जाओगे, तो वहां पर 5’S’ रूल को अप्लाई करने के लिए कहा जाएगा, तब आपको वहां पर कई प्रकार के अवशेष मिलेंगे, तो उनका निस्तारण अर्थात् डिस्पोजल कैसे करना है, जिसके बारे में निम्न प्रकार से है-

avasheshon ke nistaaran kee vidhi
अवशेषों के निस्तारण की विधि

1.उद्देश्य(Object)

कार्यशाला (Workshop) के कॉटन वेस्ट व धातु के टुकड़ों/बर्र जैसे अवशेषों के निस्तारण की विधि बताना।

iti online mock test

2.परिचय(Introduction)

फिटर कार्यशाला (Fitter Workshop) में एक ऐसा स्थान है, जहां पर विधि प्रकृति (Natural) की गतिविधियां एक साथ संपन्न होने के कारण निर्धारित कार्य अवधि (Working Time) के उपरांत पर्याप्त मात्रा में अवशेष एकत्र हो जाते हैं। इनमें धात्विक टुकड़ों/बर्र की अधिकता होती है जो कि किसी भी रूप में कारीगर (Worker) को हानि पहुँचा सकते हैं। अतः उनका उपयुक्त विधि द्वारा निस्तारण (disposal) किया जाना आवश्यक हो जाता है।

3.आवश्यक सामग्री

डस्टबिन, एक स्वच्छ कॉटन का कपड़ा तथा झाडू।

4.सुरक्षा सावधानियां (Safety Precautions)

  1. सबसे पहले अवशेष (relics) प्रभावित क्षेत्र को एक नजर डालकर चैक कर लेना चाहिए।
  2. झाडू अधिक पुरानी या घिसी हुई नहीं होनी चाहिए अन्यथा धातु टुकड़े (Metal Pecies) सही तरीके से साफ नहीं हो सकेंगे।
  3. डस्टबिन में किसी भी प्रकार का छिद्र (Holes) नहीं होना चाहिए।
  4. कॉटन का कपड़ा में तेल, ग्रीस (Oil, Grees) नहीं लगा होना चाहिए।

5.कार्यविधि (Working Method)

  1. सर्वप्रथम कार्य के दौरान कार्यशाला (Workshop) में उत्पन्न अवशेषों का एक नजर में आकलन करते हैं।
  2. यह भी जान लेते हैं कि अवशेष निस्तारण का श्रेष्ठतम उपाय सफाई (Clean) ही है।
  3. स्वयं को एवं साथियों को सुरक्षित परिवेश प्रदान करने के उद्देश्य से अवशेष प्रभावित क्षेत्र की सफाई करते हैं।
  4. झाडू की अधिकाधिक पहुंच तक झाडू से और भीतरी क्षेत्रों से कपड़े की सहायता से सफाई करते हैं।
  5. प्रयास करते हैं कि अवशेष निस्तारण की इस प्रक्रिया से परिसर का कोई भी प्रभावित क्षेत्र अछूता न रहे।
  6. सफाई के उपरांत एक बार दोबारा निरीक्षण करते हैं कि कोई क्षेत्र सफाई हुए बिना तो नहीं रह गया है।
  7. सफाई के द्वारा अवशेष निस्तारण का नैत्यिक उपयोग कर अवशेषों को एकत्रित कर डस्टबिन में इकट्ठा कर लेते हैं।

6.परिणाम(Result)

उपयुक्तम तरीके से नैत्यिक गतिविधियों से उत्पन्न अवशेषों का निस्तारण सफाई विधि से कर साफ-स्वच्छ परिसर पुनः कार्य हेतु तैयार किया।

दोस्तों, यदि आपको अवशेषों के निस्तारण की विधि पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमेंट करके बताएं और हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम चैनल (Telegram Channel) ज्वॉइन करें।

More Information:- व्यक्तिगत रक्षक उपकरण और उनका परिचय

2 thoughts on “प्रैक्टिकल: अवशेषों के निस्तारण की विधि

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2019 -2023 All Rights Reserved iticourse.com