1. Home
  2. /
  3. Fitter course
  4. /
  5. Mandrill kya hai?

Mandrill kya hai?

Mandrill एक सहायक टूल होता है, जो लेथ मशीन पर जॉब को टर्न करने में मदद करता है अर्थात् जॉब को सपोर्ट करता है।

Mandrill kya hai?

ऐसे जॉब जिनके बीच में होल होता है, और उनको मशीनन करने के लिए एक साधन की आवश्यकता होती है। ऐसी स्थिति में जॉब को मशीनन करने के लिए जिस युक्ति का उपयोग किया जाता है, उसे Mandrill कहते हैं।

Mandrill kya hai
Mandrill

Mandrill को उपयोग करने से जॉब की बार-बार Centering करने की आवश्यकता नहीं होती है। Mandrill कार्बन स्टील की Shaft के समान होते हैं, जिनका व्यास जॉब के बोर के बराबर इस प्रकार रखा जाता है, जिससे कि जॉब खिसकाकर उस पर चढ़ाए जा सकें।

दोस्तों, कभी-कभी Mandrill में 1 : 2000 का हल्का सा टेपर दिया जाता है। इस टेपर पर जब अपने आप ही टाइट फिट हो जाता है तथा उसे मशीनन किया जा सकता है। कभी-कभी Mandrill में एक ओर कॉलर बनाया होता है तथा दूसरी ओर threads कटी होती हैं। जॉब को कॉलर तक सरकाकर स्पेसर नट (Spacer Nut) से टाइट कर दिया जाता है।

Mandrill के दोनों सिरों पर Center लगे होते हैं, जिससे इसे दोनों सेंटरों पर आसानी से पकड़ा जा सके।

Mandrill ke Prakar

यह निम्न प्रकार के होते हैं-

(i)एक्सपेंशन मैण्ड्रिल

यह Mandrill दो प्रकार के होते हैं, जो कि निम्न प्रकार से हैं-

(a)Adjustable Strip Mandrill

इस प्रकार के मैण्ड्रिल की बेलनाकार बॉडी के ऊपर लंबाई में चार टेपर खांचों के अनुरूप एक झिर्रीयुक्त खोल होती है। इन झिर्रियों में Strip लगी होती हैं। यह Strip body को अंदर करने पर बाहर की ओर फैल जाती हैं।

इसका use पतले जॉब के लिए नहीं किया जाता है, ऐसा इसलिए होता है, कि Strip पर बल लगाने पर यह क्षतिग्रस्त हो जाती है।

(b)Split Bush Mandrill

इस मैण्ड्रिल में एक ठोस टेपर मैण्ड्रिल के साथ एक स्पलिट बुश (Split Bush) का उपयोग किया जाता है। जब बल लगाया जाता है, तब यह बुश फैल जाता है।

(ii)गैंग मैण्ड्रिल

इसका use पतले जॉबों को मशीनन के दौरान मजबूती से पकड़ने के लिए किया जाता है। इसकी बॉडी में एक तरफ फ्लैंज तथा दूसरी तरफ चूड़ी कटी होती हैं। इसमें जॉब का अंदरूनी व्यास Mandrill की बॉडी से 0.025 मिमी बड़ा रखा जाता है।

(iii)टेपर शैंक मैण्ड्रिल

इनका उपयोग छोटे आकार के जॉब को पकड़ने के लिए किया जाता है, जो कि निम्न प्रकार से हैं-

(a)Threaded Stud Mandrill

इसका use बंद होल वाले जॉबों को पकड़ने के लिए किया जाता है। इसमें बाहर निकले भागों में चूड़ियां कटी होती हैं। यह चूड़ियां मशीनिंग किए जाने व जॉब में बनी चूड़ियों से मैचिंग करती हैं।

(b)Expansion Stud Mandrill

इसका उपयोग जॉब की एक समान मशीनिंग करने के लिए किया जाता है। यह एक Sloted Mandrill है, जिसके अंदर चूड़ियां बनी होती हैं। जब इस मैण्ड्रिल में टेपर स्क्रू कसते हैं, तब जॉब के Stud का व्यास फैल जाता है।

(iv)कोन‌ मैण्ड्रिल (Cone Mandrill)

इसकी बॉडी के Normal Turning भाग में एक शंकु लगा होता है, जिसे आगे-पीछे सरकाया जा सकता है। इस शंकु में टेपर होता है, जिसके द्वारा बड़े होल वाले जॉब को मजबूती से पकड़ा जाता है।

(v)स्टैप्ड मैण्ड्रिल (Stepped Mandrill)

इसका उपयोग विभिन्न होलों वाले जॉब को मजबूती से पकड़ने के लिए किया जाता है। इसमें स्टैप बने होते हैं।

(vi)स्क्रू अथवा थ्रेडिड मैण्ड्रिल (Screw or Threaded Mandrill)

इसका use चूड़ीदार होल वाले जॉब की मशीनिंग के लिए किया जाता है। इसमें बनी चूड़ियां, मशीनिंग किए जाने वाले जॉब की चूड़ियों से मिलान करती हैं।

Other Information- लेथ के बारे में

Follow Me

Leave a Reply

Your email address will not be published.