1. Home
  2. /
  3. Others
  4. /
  5. फिटर ट्रेड का परिचय (Fitter trade ka parichay)

फिटर ट्रेड का परिचय (Fitter trade ka parichay)

Fitter Trade – दोस्तों आज के इस पोस्ट में फिटर ट्रेड का परिचय के बारे में और इससे संबंधित कुछ अन्य जानकारियां भी बताने वाला हूं तो चलिए शुरू करते हैं।

आजकल का युग मशीनों का युग हो गया है। जिधर भी देखो वहां पर अधिकतर मशीनों से काम होता है। यह युग पहिए के रूप में औद्योगिक क्रांति से शुरू होकर सेमी-ऑटोमाइजेशन (Semi-automisation), ऑटोमाइजेशन (automisation) से होते हुए अब कंप्यूटराइजेशन (Computerisation) तक आ पहुंचा है।

Fitter trade ka parichay
Fitter trade ka parichay

औद्योगिक institute में कई प्रकार के industrial work होते हैं। इन work को करने के लिए कुशल मानव-श्रम की आवश्यकता होती है। कुशल मानव-श्रम ही मशीनों को सही से चलाने में सक्षम होता है।

iti online mock test

कुशल Fitter बनाने के लिए ही Writers अच्छी books लिखते समय फिटर ट्रेड का परिचय या अन्य ट्रेड का परिचय अवश्य वर्णित करते हैं, ताकि आपको सरल भाषा में और पूरी जानकारी अच्छी तरह से मिल जाए। कुशल फिटर की book में आपको फिटर में उपयोग होने वाले सभी टूल्स की जानकारी दी जाती है।

वर्कशॉप में काम करते समय सुरक्षा, स्वास्थ्य व पर्यावरण से संबंधी टिप्स

दोस्तों, आपको Fitter Trade या अन्य ट्रेड का ज्ञान अर्जित करते समय आपको उस ट्रेड के परिचय में सुरक्षा के बारे में अवश्य जानकारी दी जाती है।

मैं आपको सुरक्षा, स्वास्थ्य व पर्यावरण से संबंधित कुछ जानकारी दे रहा हूं जो कि आप जो कि निम्न प्रकार से हैं-

  • दोस्तों, वर्कशॉप में सिर में चोट लगने से बचने के लिए हेलमेट, हाथों के बचाव के लिए दस्ताने तथा आंखों के बचाव के लिए सेफ्टी गॉगल पहनें और यदि आपको जरूर हो तो एप्रन भी पहनें।
  • वर्कशॉप (Workshop) के पर्यावरण को स्वच्छ बनाएं रखें। वर्कशॉप में उपयुक्त रसायनों, तेल आदि को इधर-उधर न गिराएं और न ही इन्हें व्यय करें। रसायनों से होने वाले खतरों की जानकारी भी पता कर उचित सुरक्षा प्रणाली का उपयोग करें।
  • वर्कशॉप में काम करते समय साफ कपड़े पहनने चाहिए, ढीले कपड़े नहीं पहनने चाहिए जैसे – मफलर, कम्बल, विनचिटर आदि अन्यथा दुर्घटना हो सकती है।
  • किसी भी गहराई या ऊंचाई वाले स्थान पर काम करते समय सबसे पहले सेफ्टी बेल्ट को आवश्य पहनना चाहिए।
  • वर्कशॉप में काम करते समय कील या लोहे के टुकड़ों से बचने के लिए पैरों में सेफ्टी शूज अवश्य पहनने चाहिए। जिससे पैर सुरक्षित रहेंगे।
  • आग लगने वाले रसायनों जैसे सॉल्वेंट की हैण्डलिंग करते समय अर्थिंग का उपयोग करना चाहिए।
  • वर्कशॉप में शराब पीकर काम नहीं करना चाहिए। इसके अतिरिक्त वहां पर धूम्रपान नहीं करना चाहिए।
  • वर्कशॉप में सुरक्षा उपकरणों जैसे – आपातकालीन दरवाजों, फायर एक्सटिंग्यूशर व रास्तों के सामने कोई वस्तु न रखें।
  • वर्कशॉप या मशीन पर लगे स्टीकर या टैग को न निकालें।
  • जब आप वर्कशॉप में काम कर रहे हो तब किसी भी प्रकार के एक्सीडेंट या रसायन के अधिक मात्रा में गिरने की जानकारी तुरंत अपने सुपरवाइजर को दें।
  • फैक्ट्री, कंपनी व वर्कशॉप में कॉटन वेस्ट, ग्रीस व ऑयल वेस्ट, कागज आदि को कंटेनर में इकट्ठा करके न रखें। इसको किसी जिम्मेदार व्यक्ति के सामने बाहर ले जाकर जला दें।
  • जब काम करते समय किसी कारणवश इमरजेंसी सायरन बजने लगे तब आपको गेट ऑफिस पर या असेम्बली प्वॉइंट पर तुरंत पहुंच जाना चाहिए।
  • वर्कशॉप या किसी अन्य कंपनियों में आपको जिस स्थान पर काम दिया गया है, आप वहीं पर काम करें। किसी दूसरे स्थान पर आपको नहीं जाना चाहिए।
  • वर्कशॉप में किसी भी विद्युत उपकरण को स्वयं रिपेयर न करें। जब विद्युत उपकरण खराब हो जाए तब आपको इलेक्ट्रिकल डिपार्टमेंट को सूचित करना चाहिए।

दोस्तों, आपको फिटर ट्रेड का परिचय पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमेंट व शेयर करें हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम चैनल (Telegram Channel) ज्वॉइन करें।

Read Also – ITI Fitter Course Syllabus Details In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2019 -2023 All Rights Reserved iticourse.com