1. Home
  2. /
  3. Fitter course
  4. /
  5. 5 ‘S’ संकल्पना क्या है? और इसके स्तम्भ

5 ‘S’ संकल्पना क्या है? और इसके स्तम्भ

5 ‘S’ क्या है?

5’S’ Concept in hindi:- यह एक प्रणाली (system) है, जो एक व्यवस्थित कार्य प्रणाली को कायम रखते हुए अपव्यय को कम करती है और उत्पादकता को बढ़ाती है। इस विधि को लागू कर कार्य प्रणाली को अपनी वर्तमान स्थिति से व्यवस्थित (arrenged) किया जाता है।

5 ‘S’ के आधारभूत स्तम्भ

5S संकल्पना

(1.)छँटनी(Sort)

  1. यह 5 ‘S’ का प्रथम S है। (5’S’ संकल्पना)
  2. इसे रेड टैगिंग (red tanging) के नाम से जाना जाता है।
  3. यह उन अनावश्यक मदों अर्थात् वस्तुओं या टूल्स को हमारी कार्य प्रणाली से अलग करता है,जो हमें वर्तमान समय में उत्पादन (production) में आवश्यक नहीं है।
  4. इस ‘S’ का मुख्य उद्देश्य (main object) होता है कि किसी किट में मिक्स टूल जैसे – कटिंग टूल, मेजरिंग टूल आदि रखे हुए हैं। इनको छाँटना अर्थात् कटिंग टूल को एक साथ अलग रखना व मेजरिंग टूल को अलग रखना होता है।

(2.)क्रम निर्धारण(Set In Order)

  1. यह विधि तभी कामयाब हो सकती है, जब 5 ‘S’ के प्रथम ‘S’ के द्वारा अनावश्यक मदों को कार्यक्षेत्र से अलग कर दिया गया हो।
  2. इसमें आवश्यक वस्तुओं या टूल्स को क्रम से रखा जाता है। जैसे- कटिंग टूल में रेती (file) को अलग व छेनी, हैक्सॉ, हैक्सॉ ब्लेड, ऐसे ही मेजरिंग टूल व मार्किंग टूल सभी को अलग क्रम से रख दिया जाता है।

(3.)चमकाना(Shine)

  1. यह 5 ‘S’ का तृतीय ‘S’ होता है। इस विधि का उपयोग तब किया जाता है, जब वस्तुओं या टूल्स को छाँटने के बाद क्रम से अपनी वर्कशॉप में रख देते हैं।
  2. इस विधि का अर्थ वस्तुओं या टूल्स की साफ सफाई (cleaning) करना है। कि जैसे- हमें रेती में फँसे धातु के कणों को फाइल कार्ड से साफ करना चाहिए। ना कि किसी कपड़े (clothe) से साफ करना। ऐसे ही सभी वस्तुओं या टूल्स को अलग – अलग वस्तुओं व नियम से साफ करने के बारे में बताता है।

(4.)मानकीकरण(Standardise)

  1. 5 ‘S’ के तीनों स्तम्भों को लागू करने के बाद इस स्तम्भ को लागू किया जाता है। जिसके अन्तर्गत कार्यक्षेत्र में एक सर्वोत्तम प्रक्रिया का मानकीकरण किया जाता है।
  2. इस विधि के अन्तर्गत उस प्रक्रिया (process) का मानकीकरण किया जाता है, जो पहले के तीनों स्तम्भों को कायम रखती है।
  3. इसका मुख्य कार्य निम्न तीन चरणों में है-

(1.) 5 ‘S’ (सॉर्ट, सैट इन ऑर्डर, साइन) की कार्य करने की जिम्मेदारी प्रदान करना।
(2.) 5 ‘S’ कार्यों को एक नियमित कार्य के रूप में समाकलित (integrated) करना।
(3.) 5 ‘S’ को कायम रखने के लिए नियमित जाँच करना।

(5.)कायम रखना(Sustain)

  1. यह सबसे कठिन ‘S’ है, जिसका उद्देश्य है -उचित रूप से सही विधियों (methods) एवं प्रक्रियाओं को कायम रखना।
  2. इस स्तम्भ के बिना बाकी सभी स्तम्भों की उपलब्धियाँ (achievements) ज्यादा दिनों तक नहीं रह पाती हैं। इस स्तम्भ के लिए कई उपकरण हैं।(5’S’ संकल्पना)
  1. संकेत एवं पोस्टर
  2. समाचार -पत्र
  3. प्रदर्शन समीक्षा
  4. विभागीय भ्रमण

More Information:- व्यक्तिगत रक्षक उपकरण

iti online mock test

My Website:- iticourse.com

9 thoughts on “5 ‘S’ संकल्पना क्या है? और इसके स्तम्भ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2019 -2023 All Rights Reserved iticourse.com