No ratings yet.

विद्युत धारा का चुम्बकीय प्रभाव

विद्युत धारा का चुम्बकीय प्रभाव और इसके उपयोग

दोस्तों, मेरी वेबसाइट में आपका स्वागत है, आज में आपको विद्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव के बारे में बताऊं। कि कैसे विद्युत के द्वारा चुम्बकीय क्षेत्र उत्पन्न होता है। और विद्युत चुम्बक क्या होती है, तो चलिए शुरू करते हैं। 👇👇

विद्युत धारा का चुम्बकीय प्रभाव क्या है?

Magnetic effect of electric current
custom print service

जब किसी चालक तार में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है, तब चालक तार के चारों ओर चुम्बकीय क्षेत्र उत्पन्न होने लगता है, इस प्रभाव को विद्युत धारा का चुम्बकीय प्रभाव (Magnetic effect of electric current) कहते हैं।

custom print service

विद्युत धारा का चुम्बकीय प्रभाव के उपयोग

इसका उपयोग घर में उपयोग किए जाने वाले उपकरणों में भी होता है, जिसके बारे में आप जानते होंगे। यदि नहीं जानते हैं, तो आप जान जाओगे। इसका उपयोग विद्युत मोटरों में, चुम्बकीय क्रेन में, विद्युत घंटी में, विद्युत चुम्बक में, पंखा आदि में किया जाता है।
हम घर में पानी की सुविधा के लिए समरसेबल या मोटर लगवा देते हैं, तब मोटर या समरसेबल को घुमाने के लिए विद्युत धारा का उपयोग करते हैं। यह विद्युत धारा ही विद्युत क्षेत्र उत्पन्न करके मोटर या समरसेबल को घुमाने में मदद करता है ठीक ऐसी ही हवा खाने के लिए पंखा चलाने के लिए भी विद्युत की आवश्यकता होती है।

विद्युत चुम्बक (Electromagnet) से क्या तात्पर्य है?

Electromagnet
custom print service

यदि किसी लोहे की छड़ पर अच्छी चालकता वाला तार लपेट दें, और उसमें विद्युत धारा प्रवाहित कर दें, तो उससे एक अच्छा विद्युत चुम्बक (Electromagnet) बन जाता है।

custom print service

विद्युत चुम्बक (Electromagnet) के प्रकार

यह चुम्बकीय क्षेत्र की प्रकृति के आधार पर दो प्रकार के होते हैं-

1.प्रत्यावर्ती चुम्बकीय क्षेत्र (Alternating magnetic field)

यदि किसी बनाए गए चुम्बक को ए. सी. धारा से जोड़ा जाए, तब चुम्बक के द्वारा उत्पन्न चुम्बकीय क्षेत्र प्रत्यावर्ती स्वभाव का होता है। इस प्रकार का चुम्बकीय क्षेत्र आवृत्ति पर निर्भर करता है।

2.स्थायी चुम्बकीय क्षेत्र (Permanent magnetic field)

यदि किसी बनाए गए चुम्बक को डी. सी. धारा से जोड़ा जाए, तब चुम्बक में स्थायी चुम्बकीय क्षेत्र पैदा होता है।

आप लोगों को जानकारी होगी। यदि नहीं है, तो अब आप को हो जाएगी कि डी. सी. सप्लाई में आवृत्ति का मान शून्य होता है, इसलिए शून्य आवृत्ति वाली विद्युत सप्लाई को विद्युत चुम्बक से जोड़ने पर स्थायी चुम्बकीय क्षेत्र प्राप्त होता है।

custom print service

विद्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव की खोज किसने की थी?

विद्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव की खोज ओरस्टेड ने की थी।

दोस्तों, यदि आपको मेरी यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमेंट करके अवश्य बताएं और अपने दोस्तों को भी शेयर करें।

इन्हें भी पढ़ें:-

custom print service

Telegram पर जुड़ने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें👇👇

CLICK HERE:- Telegram Group

2 thoughts on “विद्युत धारा का चुम्बकीय प्रभाव

  1. ITI Course
    विद्युत धारा का चुम्बकीय प्रभाव
    ajneesh rathour ajneesh rathour
    11 months ago
    दोस्तों, मेरी वेबसाइट में आपका स्वागत है, आज में आपको विद्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव के बारे में बताऊं। कि कैसे विद्युत के द्वारा चुम्बकीय क्षेत्र उत्पन्न होता है। और विद्युत चुम्बक क्या होती है, तो चलिए शुरू करते हैं।

    👇

    👇

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *