1. Home
  2. /
  3. Fitter course
  4. /
  5. मशीन वाइस के बारे में

मशीन वाइस के बारे में

मशीन वाइस किसे कहते है?

“किसी भी कार्यशाला में मशीन के टेबल या बेस पर फिट करके उपयोग में लाई जाने वाली वाइस, मशीन वाइस (machine vice) कहलाती है”।

Machine vice

इस वाइस (vice) को मशीन की टेबल पर ‘T’ बोल्ट की सहायता से कसा जाता है। ‘T’ बोल्टों का हैड machine टेबल के ‘T’ स्लॉट्स में डालकर machine vice में बने खाँचे (groove) में नट (nut) द्वारा कस दिया जाता है। इस वाइस के भी जबड़े बेंच वाइस की तरह समान्तर खुलते हैं, परन्तु इसकी ऊँचाई बेंच वाइस (bench vice) की तुलना में काफी कम होती है तथा इसके जबड़ो की चौड़ाई बेंच वाइस से अधिक होती है। और इसके एक सिरे स्थित जबड़ा (jaw) तथा दूसरे सिरे पर स्पिण्डल की चूड़ियाँ बनी होती हैं। इसके स्पिण्डल पर स्क्वायर चूड़ियाँ कटी होती हैं।
यह स्पिण्डल चल जबड़े (movable jaw) को वाइस की बॉडी पर आगे-पीछे चलाता है।

मैटेरियल

इसकी बॉडी ढलवाँ लोहे या कास्ट स्टील (cast iron or cast steel) की बनी होती है। और इसका स्पिण्डल माइल्ड स्टील (mild steel) का बना होता है।

iti online mock test

उपयोग

इसका उपयोग ड्रिलिंग, मिलिंग आदि प्रक्रियाएँ (process) करते समय जॉब को पकड़ने के लिए किया जाता है।

प्रकार

यह वाइसें निम्न प्रकार की होती हैं-

(1.)साधारण मशीन वाइस

इस वाइस की ऊँचाई कम होती होती है। इसलिए इस वाइस (vice) के द्वारा जॉब को machine की टेबल के अधिक निकट पकड़ा जा सकता है। इस वाइस को टेबल पर ‘T’ स्लॉट्स के समान्तर या लम्बवत् (parallel or vertical) पकड़ा जा सकता है। इसका चल जबड़ा (movable jaw) वाइस की बॉडी में बने ग्रूवों में फँसकर स्लाइड करता है।

(2.)घूर्णी मशीन वाइस

इसमें एक घूर्णी आधार पर वाइस को दो क्लैम्पिंग स्क्रू (two clamping screw) के द्वारा कसा जाता है। इससे जॉब को घुमाने के लिए बार-बार वाइस को खोलना नहीं पड़ता। इसके आधार पर एक कोणीय पैमाना (angular scale) भी बना होता है, जिसकी सहायता से इसको (वाइस) किसी भी कोण पर एडजस्ट (adjust) किया जा सकता है। और इसके घूर्णी आधार को अलग करके इसे साधारण machine vice के रूप में भी प्रयोग किया जा सकता है।

(3.)यूनिवर्सल मशीन वाइस

इसमें जॉब को बाँधकर क्षैतिज प्लेन तथा ऊर्ध्व प्लेन (Horizontal plane and vertical plane) में किसी भी कोण पर घुमाने की व्यवस्था रहती है। और इसमें जॉब को बाँध लेने पर उसके अनेक पृष्ठों (surfaces) को विभिन्न कोणों पर मशीन किया जा सकता है। यह वाइस अधिकतर टूल रूम (tool room) में प्रयोग की जाती है। और यह वाइस भारी कार्यों (heavy work) के लिए उपयोग में नहीं लाई जा सकती, क्योंकि यह बहुत कम मजबूत (strong) होती है।

(4.)ऊर्ध्वाधर मशीन वाइस

यदि साधारण machine vice को एक दिशा में पलट दिया जाए तो उसके जबड़़े समान्तर (parallel) न रहकर ऊर्ध्वाधर (vertical) हो जाएँगे। और इसे machine table पर क्लैम्प करने के लिए उसके आधार (base) में आवश्यक परिवर्तन किया जाए तो यह ऊर्ध्वाधर मशीन वाइस (vertical machine vice) बन जाएगी।
इस वाइस का प्रयोग जॉब के सिरों पर मिलिंग क्रिया (milling) लिए किया जाता है।

(5.)ड्रिल मशीन वाइस

यह मुख्य रूप से ड्रिलिंग मशीन (drilling machine) पर प्रयोग की जाती है, इसलिए इसे ड्रिल मशीन वाइस (drill machine vice) कहते हैं। इसमें चल जबड़े को आगे-पीछे चलाने के लिए एक नर्लिंग (knurling) हुआ हैण्डिल लगा होता है। तथा इसके हैण्डिल को उठाकर जबड़े (jaw) को सरकाया जा सकता है। जॉब को जकड़ने के लिए हत्थे को नीचे लाकर एवं गोल घुमाकर जॉब (job) को कस लिया जाता है। और इससे समय की बचत होती है।

More Information:- बेंच वाइस के बारे में

My Website:- iticourse.com

3 thoughts on “मशीन वाइस के बारे में

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2019 -2023 All Rights Reserved iticourse.com