1. Home
  2. /
  3. Fitter course
  4. /
  5. टैप के प्रकार (Types of Tap)

टैप के प्रकार (Types of Tap)

दोस्तों, आज की पोस्ट में टैप के प्रकार (Types of Tap) के बारे में बताया है, यदि आप जानकारी पाना चाहते हो तो पोस्ट को पूरा पढ़िए।

1. हैण्ड टैप

इस टैप को हाथ द्वारा चलाकर चूड़ियाँ काटी जाती हैं। इसकी शैंक वर्गाकार (square) होती है, टैप को हाथ द्वारा घुमाने के लिए एक हैण्डिल का प्रयोग किया जाता है।

जिसमें दोनों ओर हत्थे होते हैं तथा बीच में एक वर्गाकार झिर्री (square groove) (फिक्स या एडजस्टेबिल) होती है। अलग-अलग प्रकार की चूड़ियों के लिए अलग टैप सैट (tap set) बनाए जाते हैं; जैसे- मीट्रिक, बी.एस.डब्ल्यू. आदि।

iti online mock test
टैप के प्रकार
Tap

किसी निश्चित प्रकार की चूड़ी के लिए हैण्ड टैप के सैट में तीन टैप होते हैं।

टैप के प्रकार
Tap Angle

(a.) टेपर टैप

हाथ द्वारा चूड़ी काटते समय यह सबसे उपयोग में आने वाला पहला टैप होता है। I.S.I. में इसको रफर टैप कहा गया है। इसके अंत के कुछ दाँते (8 या 10) घिसकर टेपर कर दिए जाते हैं।
इसकी टेपर लीड (taper lead) 4° होती है। इसके अन्त के व्यास को प्वॉइण्ट व्यास (point diameter) कहते हैं। यह उस होल के व्यास से छोटा होता है, जिसमें चूड़ियाँ काटनी है।
इस प्रकार आसानी से यह होल में जाकर चूड़ियाँ (threads) काट सकता है। एक के बाद दूसरी चूड़ी गहराई को बढ़ाती है तथा नई चूड़ी भी काटती है।
इस प्रकार पूरा टैप होल में प्रवेश कर जाता है। टैप को उल्टा घुमाकर (anticlockwise) बाहर निकाल लिया जाता है इसके बाद दूसरा व तीसरा टैप भी चला लिया जाता है।

(b.)इण्टरमीडिएट टैप

यह हैण्ड टैप सैट का दूसरा टैप है। इसे पहले टैप द्वारा रफ चूड़ी (rough thread) काटने के बाद चलाया जाता है। इसकी भी 3-5 चूड़ी आगे से टेपर की गई होती हैं। इसकी टेपर लीड (taper lead) 10° होती है। यह टैप सही आकार की चूड़ियाँ (threads) बनाता है, परन्तु ब्लाइण्ड (बन्द) होल में आगे की चूड़ी सही साइज की नहीं बना पाता है, इसलिए तीसरा फिनिशिंग टैप (finishing tap) भी चलाना आवश्यक हो जाता है।

(c.)फिनिशिंग टैप

इसे प्लग टैप (plug tap) या बॉटमिंग टैप (bottoming tap) भी कहते हैं। इसके आगे की मात्र एक-दो चूड़ी टेपर में होती है। इसके प्रयोग की आवश्यकता दूसरे टैप को चलाने के बाद मात्र बन्द छिद्रों (blind hole) में होती है। इसकी टेपर लीड 20° होती है, इसलिए यह छिद्र की तली तक चूड़ी बना सकता है।

टैप के बारे में
Finishing Tap

2.मशीन टैप

ये टैप, ड्रिल मशीन के समान बनी हुई टैपिंग मशीन (tapping machine) पर प्रयोग किए जाते हैं। इन मशीनों में एक निश्चित चाल के बाद स्पिण्डल अपने आप उल्टी दिशा में घूम जाता है। ये टैप इस प्रकार टेपर किए जाते हैं कि एक ही ऑपरेशन में फिनिश चूड़ी (finish thread) तैयार कर सकें। इनका उपयोग ऑटोमैटिक लेथ मशीनों (automatic lathe machine) पर भी किया जाता है।

(a.)स्पाइरल फ्लूटेड टैप

इस टैप में फ्लूट्स स्ट्रेट न होकर स्पाइरल (spiral) होते हैं। इसका उपयोग ऐसे होल में टैपिंग के लिए किया जाता है। जिसमें स्प्लाइन (spline) कटे होते हैं। स्पाइरल ग्रूव (spline groove) होने के कारण ये स्प्लाइन ‘की-वे’ (spline key way) में नहीं फँसते हैं, इसे होल टैप भी कहते हैं। इनका उपयोग पीतल (brass), ताँबा(copper), एल्युमीनियम जैसी मृदु धातुओं (soft metals) में चूड़ी काटने में किया जाता है।

(b.)गन या स्पाइरल प्वॉइण्ट टैप

इस टैप की आगे की 3-4 चूड़ियाँ (threads) टेपर होती हैं। इससे आगे की चूड़ियों पर एक विशेष रेक एंगिल (take angle) बनता है। इससे इसके काटने की क्षमता बढ़ जाती है।
इसका उपयोग अधिक उत्पादन (mass production) में किया जाता है। इसको मशीन में लगाकर आर-पार के छिद्र (hole) बनाने में किया जाता है। इस प्रकार के टैप के नीचे छीलन निकालने के लिए खाली स्थान रखा जाता है। यह टैप टूटने की आशंका को कम करता है तथा छीलन की फसावट को रोकता है।

(c.)स्टब फ्लूट टैप

ये टैप्स एक प्रकार के फार्मिंग टूल्स (forming tools) होते हैं। इनमें कटिंग एज की आवश्यकता नहीं होती, इसलिए फ्लूट्स (flutes) नहीं बनाए जाते। इनका उपयोग मुलायम धातुओं (soft metal) को रोल करके चूड़ी फॉर्म करने के लिए किया जाता है; जैसे- टिन बॉक्स आदि में चूड़ी काटना।

(d.)थ्रेड फॉर्मिंग टैप

जहाँ छीलन को आसानी से नहीं हटाया जा सकता, वहाँ थ्रेड फॉर्मिंग टैप (thread forming tap) का उपयोग किया जाता है। इस प्रकार के टैप में पदार्थ की विस्थापन क्रिया (displacement action) द्वारा चूड़ियाँ काटी जाती हैं, जिससे प्रक्रिया के दौरान कोई छीलन नहीं बनती। इससे अच्छी फिनिशिंग प्राप्त होती है। इस प्रकार के टैप का उपयोग पीतल (brass), ताँबा, एल्युमीनियम आदि धातुओं की कटाई के लिए किया जाता है।

3.मास्टर टैप

यह टैप थ्रेडिंग डाइयाँ बनाने या गेज (gauge) बनाने के लिए उपयोग किए जाते हैं। इनमें कटिंग एज बढ़ाने के लिए फ्लूट्स अधिक संख्या में बनाए जाते हैं। यह फ्लूट्स 6 से 10 होते हैं। इसके द्वारा बहुत एक्युरेट (accurate) तथा परिष्कृत चूड़ियाँ (finished threads) कटती हैं।

4.एक्सटैन्शन टैप

ऐसे टैप्स की शैंक काम की आवश्यकता के अनुसार अधिक लम्बाई में बनाई जाती है। इसका प्रयोग ऐसे स्थानों पर किया जाता है, जहाँ अधिक गहराई (more depth) में टैपिंग करनी होती है; जैसे- पुली के हब में बोल्ट (bolt) के लिए टैपिंग करना आदि।

टैप के प्रकार
एक्सटैन्शन टैप

5.बैण्ड शैंक टैप

इस टैप की शैंक लम्बी व एल (‘L’) आकार में मुड़ी हुई होती है। इसमें अलग से हैण्डिल लगाने की आवश्यकता नहीं होती। मूड़े हुए शैंक को ही हैण्डिल (handle) की तरह प्रयोग किया जाता है।

टैप के प्रकार
Bend Shank Tap

6.मशीन स्क्रू टैप

ये छोटे टाइप के हैंड टैप (hand tap) होते हैं, जिन पर स्क्रू के अनुसार नंबर लिखा रहता है। (0) नंबर के टैप का साइज 0.6″ तथा 12 नंबर का साइज 0.126″ होता है। साधारणतः 12 नंबर तक के टैप ही प्रयोग (use) किए जाते हैं।

7.गैस टैप

इस टैप की बॉडी स्ट्रेट (straight) या टेपर (taper) होती है। इसका प्रयोग गैस पाइपों (gas pipes) की फिटिंग के लिए किया जाता है।

टैप के प्रकार
Gas Tap

8.नट टैप

इस टैप की शैंक, एक्सटैन्शन टैप (extension tap) समान लम्बी होती है तथा बॉडी के आगे का प्वॉइण्ट कॉनिकल होता है। इसका प्रयोग नट को थ्रेडिंग मशीन (thread machine) या ड्रिल मशीन (drill machine) में पकड़कर चूड़ियाँ (threads) काटने के लिए किया जाता है।

9.स्ट्रैण्डर्ड टेपर पाइप टैप

इस टैप की पूरी बॉडी पर प्रति फुट 3″/4 टेपर में थ्रेड कटी होती हैंं। इससे पाइप का जोड़ (joint) मजबूती से जुड़ जाता है तथा गैस या द्रव (liquid) के लीकेज की सम्भावना समाप्त हो जाती है।

10.फ्लूटलैस टैप

यह स्टब फ्लूट टैप के समान होते हैं, ये टैप्स एक प्रकार के फार्मिंग टूल्स (forming tools) होते हैं। इनमें कटिंग एज की आवश्यकता नहीं होती, इसलिए फ्लूट्स नहीं बनाए जाते। इनका उपयोग मुलायम धातुओं को रोल करके चूड़ी फॉर्म करने के लिए किया जाता है; जैसे- टिन बॉक्स (tin box) आदि में चूड़ी काटना।

टैप के प्रकार
फ्लूटलैस टैप

दोस्तों, यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमेंट व शेयर करें। हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम चैनल (Telegram Channel) इंस्टाग्राम (Instagram) को ज्वॉइन करें।

Read Also- टैप के बारे में

2 thoughts on “टैप के प्रकार (Types of Tap)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2019 -2023 All Rights Reserved iticourse.com