1. Home
  2. /
  3. Fitter course
  4. /
  5. पावर सॉ के प्रकार व सावधानियाँ के बारे में

पावर सॉ के प्रकार व सावधानियाँ के बारे में

Types Of power saw (पावर सॉ के प्रकार)in hindi

ब्लेड की बनावट के आधार पर यह चार प्रकार के होते हैं (types of power saw in hindi):-

Types of power saw
पावर सॉ के प्रकार

(1.)रेसीप्रोकेटिंग पावर सॉ

यह पावर सॉ हैक्सॉ (hacksaw) की तरह ही कार्य करती है। लेकिन यह दो मैकेनिज्म पर चलती है-

  1. यान्त्रिक
  2. हाइड्रॉलिक

वैसे तो अधिकतर पावर सॉ में दोनों ही मैकेनिज्म को मिलाकर प्रयोग किया जाता है।
ब्लेड को ऊपर-नीचे लाने में हाइड्रॉलिक मैकेनिज्म (hydraulic mechanism) प्रयोग किया जाता है।
ब्लेड को रेसीप्रोकेटिंग गति प्रदान करने के लिए यान्त्रिक मैकेनिज्म (Mechanical mechanism) प्रयोग किया जाता है।
पावर सॉ पर प्रयोग होने वाला ब्लेड, हैक्सॉ ब्लेड (hacksaw blade) की तुलना में अधिक मोटा, अधिक चौड़ा तथा अधिक लम्बा होता है। ब्लेड पर दाब को कम या ज्यादा एडजस्ट करने के लिए इसके पीछे एडजस्टेबिल भार रहता है। कभी-कभी इस पर हाइड्रॉलिक प्रेशर (hydraulic pressure) का भी प्रयोग किया जाता है। हाइड्रॉलिक प्रेशर द्वारा बैक स्ट्रोक (back strock) में ब्लेड को ऊपर उठा दिया जाता है। इससे ब्लेड की लाइफ बढ़ जाती है। (पावर सॉ के प्रकार)

iti online mock test

(2.)बैण्ड पावर सॉ

इस पावर सॉ में दो पुलियाँ लगी होती हैं, जिन पर एक फ्लैक्सिबिल ब्लेड (flexible blade) बैण्ड के रूप में चलता है। यह बैण्ड एक ही दिशा में चलता है तथा कटाई करता है।
इसका ब्लेड बैण्ड के रूप में होता है अधिक कठोर नहीं होता, इसलिए अधिक हार्ड धातुओं (hard metals) के लिए इसका प्रयोग नहीं किया जाता है। इसमें जॉब को पकड़ने के लिए वाइस (vice) लगी होती है। और यह लकड़ी काटने वाली हॉरिजोण्टल आरा मशीन के समान होता है।

(3.)सर्कुलर पावर सॉ

इस पावर सॉ में कटिंग ब्लेड एक पतली हाई स्पीड स्टील (high speed steel) की वृत्ताकार प्लेट के आकार का होता है, जिसकी परिधि (circumference) पर दाँते कटे होते हैं। जॉब को पकड़ने के लिए एक स्लाइडिंग वाइस का प्रयोग किया जाता है। इस वाइस में जॉब को जकड़कर घूमती हुई सर्कुलर सॉ (circular saw) के विरूद्ध दबाव डाला जाता है। इससे कटिंग आपरेशन होता है।

(4.)प्रोफाइल पावर सॉ

यह पावर सॉ भी बैण्ड पावर सॉ (band power saw) के समान होती है। इसका ब्लेड अधिक पतला तथा कम चौड़ा होता है। इसके कारण कटिंग करते हुए इसे किसी भी दिशा में चलाया जा सकता है। इसकी टेबल या प्लेटफार्म (table or platform) को भी झुकाया जा सकता है। इसकी अधिक फ्लैक्सिबिलिटी के कारण इसको किसी भी प्रोफाइल (profile) को काटने के लिए प्रयोग किया जाता है। आन्तरिक प्रोफाइल काटने के लिए पहले ड्रिल द्वारा होल कर लिया जाता है तथा उस होल में से बैण्ड सॉ के ब्लेड को गुजाकर कटिंग की जाती है।
प्रोफाइल पावर सॉ को कन्टूर सॉ (contour saw) के नाम से भी जाना जाता है। इसमें एक धातु का बैण्ड (मुड़ा) आरी ब्लेड लगा होता है तथा यह सतत रूप (continuous form) से कर्तन करता है। इस पावर सॉ में विभिन्न गतियाँ प्राप्त करने के लिए चर गति घिरनी (variable speed pully) बन्ध होता है। विभिन्न रेखाओं की प्रोफाइल में धातु काटने के लिए इस मशीन (machine) का प्रयोग किया जाता है।

सावधानियाँ

  1. जॉब पर माप लेते समय पावर सॉ को बन्द करना चाहिए। चलती अवस्था में मापने (measure) का कार्य नहीं करना चाहिए।
  2. कटिंग कार्य के लिए ब्लेड का चयन (selection) ध्यान से करना चाहिए।
  3. लम्बे लट्ठे को पीछे से सहारना चाहिए। इसके लिए स्क्रू जैक (screw jack) या कोई जॉब सपोर्ट प्रयोग करनी चाहिए।
  4. ब्लेड पर अधिक दबाव न रखें तथा कटिंग के समय सदैव शीतलक (coolant) का प्रयोग करें।
  5. एक ही लम्बाई के पीस काटने के लिए स्टॉपर या स्टॉप गेज (stopper or stop gauge) का प्रयोग करना चाहिए।
  6. जॉब छोटा रह जाने पर स्पेसर (spacer) का प्रयोग करना चाहिए।

दोस्तों, यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो कमेंट करके बताएं और हमसे जुड़ने के लिए टेलीग्राम चैनल को ज्वॉइन करें।

More Information:- पावर सॉ क्या है?

3 thoughts on “पावर सॉ के प्रकार व सावधानियाँ के बारे में

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © 2019 -2023 All Rights Reserved iticourse.com