• Home
  • /
  • प्राइमरी और सेकेंडरी बैटरी में क्या अंतर है?

द्वितीयक सैल किसे कहते है? | प्रकार | प्राथमिक सैल में अंतर

जिससे परिपथ में विद्युत धारा प्रवाहित होने लगती है, अर्थात् रासायनिक ऊर्जा धीरे-धीरे विसर्जित हो जाती है और दुबारा काम में लेने के लिए इन्हें पुनः आवेशित करना पड़ता है। इस तरह की सैलों को मिलाकर बनने वाली बैट्री को संचायक बैट्री या द्वितीयक सैल कहते हैं।

प्राथमिक सैल क्या होते है? | अर्थ | प्रकार

प्राथमिक सैल में दो समान चालक प्लेटें एनोड और कैथोड विद्युत अपघट्य में डुबी हुई रहती है विद्युत अपघट्य एक प्लेट के साथ अधिक रासायनिक क्रिया करता है और परिपथ को बन्द करने पर इलेक्ट्रॉन एक प्लेट से दूसरी प्लेट पर जाने लगते हैं