iticourse.com logo
x

सीलिंग के बारे में

Sealing kya hai in hindi:- Welcome My Website- iticourse.com दोस्तों, मैंने इस पोस्ट सीलिंग क्या है? के बारे में पूरी जानकारी दी है। और यह भी बताया है कि किस भाग का क्या काम है।

सीलिंग क्या है?

“यह वह प्रक्रिया है, जिसमें दो जोड़े जाने वाले भागों के बीच होने वाले लीकेज को रोकने के लिए किया जाता है।”
इसका उपयोग मुख्य रूप से घूमने वाले उपकरण जैसे- मिक्सर, पम्प, ब्लोअर और कम्प्रेशर आदि में किया जाता है। क्योकिं ऐसे उपकरणों की घूमने वाली शाफ्ट और स्थिर पम्प की केसिंग के बीच में लीकेज होता है। तब इस लीकेज को रोकने के लिए हम सील का उपयोग करते हैं।

उदाहरण

जब बोरिंग से पानी उठाने के लिए मोटर पम्प लगाया जाता है तो इन मोटर में भी घूमने वाली शाफ्ट और फिक्स (स्थिर) पम्प की केसिंग के बीच में गैप होता है, जिससे पानी नहीं आ पाएगा। क्योंकि वहां पर लीकेज रहता है, जिससे हवा पास होती रहती है। इस गैप या लीकेज को बन्द करने के लिए जब ग्लेन भरी जाती है तो उस प्रक्रिया को ग्लेनिंग कहते हैं। और जब सील को फिट किया जाता है या लगाया जाता है, तो उस प्रक्रिया को सीलिंग कहते हैं।

सीलिंग के काम करने वाले भाग

यह चार प्रकार के होते हैं-

1.प्राइमरी सीलिंग सतह

इस सीलिंग में सिलिकॉन कार्बाइड, सिरेमिक या टंग्स्टन कार्बाइड का उपयोग किया जाता है। यह सील का सबसे मुख्य भाग होता है।

2.सेकेण्डरी सीलिंग सतह

यह सतह ओ-रिंग और रबर डायफ्राम होती है। और यह द्रव के अवक्षय को रोकती है। अर्थात् द्रव को इधर उधर बहने नहीं देती है। जिसे द्रव बेस्ट नहीं जाता है। और यह अन्य सतहों के सापेक्ष घूमता भी नहीं है।

3.प्रवर्तन

यह एक प्रकार का बल होता है। इसका उपयोग दो प्राइमरी सीलिंग सतहों को सम्पर्क में रखने के लिए किया जाता है। इन सतहों को बल एक स्प्रिंग द्वारा दिया जाता है और परन्तु कभी कभी यह बल सील किए गए द्वारा भी दिया जाता है।

4.ड्राइव

प्राइमरी सीलिंग सतह में सील के भाग एक दूसरे के सापेक्ष घूमते हैं, लेकिन यह भाग सील के पकड़ने वाले भागों के सापेक्ष घूमने वाले नहीं होने चाहिए। तब ड्राइव का उपयोग पकड़ने वाले भागों के सापेक्ष घूमने से रोकने के लिए किया जाता है।

More Information:- रिवेट के बारे में

My Website:- iticourse.com

iti online mock test

Leave a Reply

Your email address will not be published.